web developer salary

नमस्कार दोस्तों आज हम वेब  डेवलपर क्या है. और आप कैसे सिख सकते है. उसमे काम करने के बाद आप कितनी सैलरी कमा सकते है. आज में आपको इसकी जानकारी दूंगा. आपको तो पता है यह युग इन्टरनेट का है. उसमे लोग घर बैठे पैसे कमाना चाहते है. बहोत लोग लाखो पैसे कमा रहे है. पहले हम वेब डेवलपर क्या होता है यह बतांगे. आपको पता ही होगा.  इन्टरनेट पर कोई भी टॉपिक गूगल के जरिये सर्च करते है. तो आपको बहोत सारी वेबसाइट दिखाई देती  है. वही वेबसाइट वेब डेवलपर बनाते है. आज के समय पर हर कोई इन्टरनेट अपनी पहचान, business के लिए अपनी खुदकी एक वेबसाइट क्रिएट करते है. आपको तो पता है किसी को business करना है. तो अपना प्रोडक्ट बेचना हैं. मार्केटिंग करने के लिए वेबसाइट की जरूत पड़ती है. स्कूल  से लेकर कॉलेज तक लोग वेबसाइट बनाकर अपनी कॉलेज की इनफार्मेशन घर बैठे लोगो तक पोहचते है. हर कोई आम आदमी किसी भी क्षेत्र में आगे बड़ने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करता है. और अपना खुदका पोर्टफोलियो बनाये के लिए खुद की वेबसाइट बनाते है. आप को समज आ गया होगा वेब डेवलपर क्या करते वह कोडिंग से वेबसाइट बनाते है. एसे में आप  कोडिंग, और कंप्यूटर में IT सेक्टर में काम करना चाहते है. आपको इसमें रूचि है तो आपके पास ये बहोत एक अच्छा विकल्प है. और समय के साथ वेब डेवलपर  की डिमांड बहोत बढ़ रही है.  वेब डेवलपर बनकर आप घर बैठे आप अच्छी से पैसे कमा सकते है. और आप IT सेक्टर में काम करना चाहते है. उसमे भी आपको लाखो रुपये का पैकेज का ऑफर किया जाता है.

Web Developer क्या काम करता है.

  • सबसे पहले web developer प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की अच्छी सी जांनकारी होती है. उसका काम होता है वेबसाइट को बनाना.
  • कंटेंट का मैनेजमेंट करके वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाना.
  • HTML,CSS, JAVA SCRIPT द्वारा वेबसाइट बनाना.
  • एक अच्छा वेबसाइट डिजाईन करना.
  • कस्टमर की requirement  को फुल फिल करना.

आप web developer कैसे बन सकते है.

सबसे पहले आपको वेबसाइट के बारे में बेसिक इनफार्मेशन होनी चाहिए. क्योकि हम वेब पेज को  इन्टरनेट के से  देखते है. और बेसिक कांसेप्ट आपकी क्लियर होनी चाहिए. आपको इन्टरनेट पर वेबसाइट का उपयोग किसके लिए किये जाते है. डोमेन होस्टिंग क्या होती है. ब्राउज़र से कैसे काम  करते है. सबसे पहले आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अच्छे से  नॉलेज होना चाहिये. आपको HTML,CSS,JAVA SCRIPT आपको आना चाहिए. यह लैंग्वेज सिखना बहोत आसान वह आपके हार्ड वर्क  पर डिपेंड करता है कैसे सिखाते. आप इन्टरनेट की मदत से यह सिख सखते है. नहीं तो आप कोई भी इंस्टिट्यूट से ऑनलाइन क्लासेज के माध्यम से सिख सकते है. css इस्तेमाल वेब डिजाईन करने के  लिए किया जाता है. java script यह एक  प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है.  आप भी सही से स्टडी करके सिख सकते है. यह सब technical स्किल आपको आना ही होना चाहिय नहीं तो आप वेबसाइट क्रिएट  नहीं कर सकते. इसे आप को IT सेक्टर में लाखो के पैकेज की जॉब मिल सकती है. नहीं तो आप घर बैठकर freelancer बनकर पैसे कमा सकते है. आप अपनी वेबसाइट बनाकर दूसरो का बेच सकते है. नहीं तो उनके requirement के हिसाब से काम  करके बहोत सारा पैसा कमा सकते है. इसलिए  आपको खुद के स्किल को develop करना होगा. आपको अपनी  वेबसाइट मोबाइल friendly बनानी होगी. वह डिजाईन अच्छी होनी चाहिए और लोगो को आपको वेबसाइट responsive होनी चाहिए. आपको फ्रेमवर्क,बूस्ट ट्रैप, tailwind,css,रियेक्ट,angular यह सब आपको सिखना होगा. आप इसमें frontend और back end डेवलपर के टाइप होते है. आप frontendऔर back-end डेवलपर बन सकते है. नहीं तो आप यह दोनों सिखकर फुल स्टैक डेवलपर बन सकते है. यह आपकी चॉइस है. आपको क्या बनना है. वर्तमान में  बहोत सारी  कंपनी डिग्री पर नहीं  आपकी स्किल को सेलेक्ट करती है. आपको  बिना किसी डिग्री जॉब मिल सकती है. परन्तु आप सर्टिफाइड कोर्स करे. इसे आपकी जॉब के रस्ते खुल जाते है. आप अपना खुद  का प्रोजेक्ट बनाये आप शोपिंग की वेबसाइट बना सकते है. इसमें आप सोशल मीडिया साईट, ब्लोगिंग साईट बनाकर किसी प्रोजेक्ट पर काम कर सकते है.

वेब डेवलपर के प्रकार और सैलरी

वेब डेवलपर में तीन प्रकार होते है. इसमें सबसे पहले आता है. frontend डेवलपर और दूसरा प्रकार आता back end डेवलपर लास्ट प्रकार आता है. फुल स्टैक डेवलपर. आप किसी इन्टरनेट पर किसी  भी वेबसाइट को विजिट करते है. सबसे पहले आपको वेबसाइट पर पेज दिखता है. दिखाई देने वाला पार्ट उसे frontend डेवलपर कहा जाता है. इसमें वेबसाइट पर कोनसा रंग है. वेबसाइट का लुक कैसा है. इमेजेज layout शामिल होता है. frontend वेब डेवलपर की सुरुवाती सैलरी 15000 से 20000 होती है. आगे यह आपके एक्सपीरियंस के हिसाब से बढ़ जाती है. अब हम back end डेवलपर के बारे में जानते है. frontend में जो आप वेबसाइट क्रिएट करते समय लिखते है. उसको बदला नहीं जाता है. लेकिन वेबसाइट का देता रियल टाइम से डाटा प्राप्त करना back end का काम होता है. हम किसी भी वेबसाइट को लॉग इन करते है. उसमे यूजर का डाटा सेव होता है. उसमे back end लैंग्वेज का इस्तेमाल करके पता लगाया जा सकता है. यूजर उसमे गलत पासवर्ड डालता है. उसे शो कर देता है. इसके लिए आपको back end लैंग्वेज सिखनी होगी. back end डेवलपर की सैलरी fronted डेवलपर से ज्यादा होती है. एक back end डेवलपर की  सैलरी महीने की 30000 होती है. अब हम फुल स्टैक  डेवलपर की बारे में जानते  है. फुल स्टैक डेवलपर को back end और fronted का भी जानकारी होती है. फुल स्टैक डेवलपर की सैलरी इन दोनों से भी अच्छी और ज्यादा होती है. इंडिया में फुल स्टैक डेवलपर की बहोत मांग है. फुल स्टैक  डेवलपर बनाना एक मुश्किल होता है. पूरी वेबसाइट को बनाना फुल स्टैक डेवलपर का काम होता  है. यदि IT सेक्टर में आपको कुछ सालो का अनुभव है. तो आपको 1 लाख प्रति महीने मिल  सकते है.  आशा करता हु यह ब्लॉग आपको पसंद आया होगा. मेरे पोस्ट के प्रति अपनी प्रसन्नता  और उसुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को सोशल नेटवर्क पर शेर जरुर की जिए.